आज हम आपको कोई लेटेस्ट मोबाइल की जानकारी नहीं देंगे। आज हम आपको उन यादो के बक्से में ले जा रहे है जब आपने पहली बार मोबाइल इस्तेमाल किया था। आपको जानकारी के लिए बता दे। की भारत में मोबाइल से पहले पेजर आया करते थे जो बहुत जल्द ही बंद हो गए थे इसके बाद आये फीचर फोन।

पहले के मोबाइल और अभी के मोबाइल के मुकाबले पतले नहीं हुआ करते थे। अगर आपने फोन पहले के मोबाइल यूज़ किये है। तो आपको याद होगा पहले के मोबाइल की स्क्रीन छोटी और मोबाइल ब्लैक एंड वाइट आया करते थे और भारी भी हुआ करते थे लेकिन मजबूत भी हुआ करते थे।

क्या आपको याद है पहले के मोबाइल कैसे हुआ करते थे ? चलिए आज हम आपको बताते है पहले के मोबाइल कैसे दिखते थे।

1

Image result for ericsson gf788

1996 में नोकिया ने कम्युनिकेटर सीरीज के स्मार्टफोन निकाले थे। ये फ्लैप फोन क्वैर्टी कीबोर्ड के साथ आते थे। ये उस समय के सबसे बड़ी स्क्रीन वाले मोबाइल में से एक थे।

2

Image result for nokia phone with keyboard

2000 में एरिक्सन ने आर380 फोन पेश किया। इसे उस दौर के फीचर फोन के बीच ‘स्मार्टफोन’ माना गया। एरिक्सन आर380 दिखने में छोटा और आज के स्मार्टफोन की तरह ही हल्का था। इस फोन में पहली बार ऑपरेटिंग सिस्टम (ओएस) का इस्तेमाल किया गया।

Image result for palm treo

2003 में ब्लैकबेरी ने फोन पेश किया था। इस फोन में पहली बार वॉइस कालिंग भी दी गयी थी। उस समय का यह फोन सबसे एडवांस फोन था।

Image result for ericsson r380

2002 में पाम ट्रेओ स्मार्टफोन बनाया। इस दौर तक लोगों में स्मार्टफोन को लेकर रुझान और समझ दोनों होने लगी थी। इस फोन में बातचीत करते वक्त कैलेंडर चैक किया जा सकता था और मेल भी भेजा जा सकता था। ये उस दौर में हैरान कर देने वाला डिवाइस था।

Image result for 1st iphone device

2007 में एप्पल ने अपना पहला फोन पेश किया था। जो बहुत ही अच्छा था और उसके फीचर्स भी बहुत अच्छे थे। आईफोन पहला कमर्शियल स्मार्टफोन था जिसमे फिंगरप्रिंट का यूज़ किया गया था।

Image result for एचटीसी ड्रीम (गूगल जी1

2008 में एचटीसी ड्रीम (गूगल जी1) स्मार्टफोन मार्केट में आया। यह पहला स्मार्टफोन था जो Linux बेस्ड एंड्रॉयड ऑपरेटिंग सिस्टम पर रन करता था। बाद में इसे एचटीसी से गूगल ने खरीद लिया और गूगल इस स्मार्टफोन को बनाने लगा।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here