एप्पल आईफोन एक्स में कई हाईलाइटेड फीचर्स है , जिनमें OLED डिस्प्ले, ट्रूडेप्थ कैमरा जैसे कई अन्य शामिल हैं। आईफोन एक्स में एक नई टेक्नोलॉजी दी गई है, यह है फेशियल रिकग्निशन टेक्नोलॉजी, जिसे टच आईडी नहीं बल्कि फेस आईडी कहा जाता है।

एप्पल आईफोन लॉन्च होने के बाद कई खबरे आयी जिनमे कहा गया की टेक्नोलॉजी को अपने आने वाले स्मार्टफोन पर भी दे सकता है, जिन्हें कंपनी अगले साल लॉन्च करेगी। हालांकि फोन के इस नए फेस आईडी टेक्नोलॉजी के फेल होने की भी कई खबरें आ रही हैं। कहा जा रहा है कि यह टेक्नोलॉजी उतनी सिक्योर नहीं है जितना कंपनी का कहना है।

Bkav की नाम की सिक्योरिटी ने इस टेक्नोलॉजी को फेल कर दिया है जिससे अब यह साबित हो गया है कि यह सिक्योरिटी आपके डिवाइस को प्रोटेक्ट करने में पूरी तरह कामयाब नहीं होती है।

Bkav ने इस फेस आईडी टेक्नोलॉजी को एक मास्क की से गलत साबित किया है। फोनएरीना की एक रिपोर्ट में यह बताया गया है। ऐपल के अनुसार फेस आईडी एक बेहद ही सिक्योर टेक्नोलॉजी है और इसे एक्सेस कर पाना नामुमकिन है। कंपनी ने लॉन्च के वक़्त यह कहा था, कि लाखों में कोई एक इस टेक्नोलॉजी को पास कर आपके फोन का एक्सेस पा सकता है।

Bkav का कहना है कि उन्होंने एक फेक मास्क तैयार किया था, जिसे अलग अलग तरह के मटेरियल से चेहरे के अलग अलग भाग के लिए बनाया गया था। इस मास्क को 3D प्रिंटिंग और मेक अप और 2D इमेज को मर्ज कर तैयार किया है। इसके अलावा, गालों पर एक स्पेशल प्रोसेस की गई थी, Face ID टेक्नोलॉजी को इसी से झांसा दिया गया था।

इस पूरे मास्क को बनाने में करीब $150 का खर्च हुआ है। इसी से जुड़ा एक वीडियो भी यहां दिया गया है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here