आईफोन, आईपैड और मैक के दामों में कटौती की है. कंपनी का इरादा हाल में लागू माल एवं सेवा कर (जीएसटी) से मिले लाभ का स्थानांतरण ग्राहकों को देना है. एपल के स्मार्टफोन पोर्टफोलियो में सबसे महंगा उपकरण आईफोन प्लस (256 संस्करण) का दाम अब घटकर 85,400 रुपये रह गया है. यह पहले के 92,000 रुपये की कीमत से 6,600 रुपये कम है.

इसी तरह आईफोन एसई (128जीबी) का दाम 2,200 रुपये कम होकर 35,000 रुपये रह गया है. कंपनी की वेबसाइट पर जो नई कीमतें दी गई हैं वे पूर्व की आईफोन कीमतों से 7.2 प्रतिशत कम हैं. इसी तरह 12.9 इंच के आईपैड (512 जीबी) की कीमत एक लाख रुपये से घटकर 97,000 रुपये रह गई है.

एप्पल का कहना है की उसके उत्पादों के दामों में कटौती जीएसटी की वजह से की गई है या इसके पीछे कोई और कारण है. जीएसटी में एपल के स्मार्टफोन पर 12 प्रतिशत का कर लगेगा. अभी तक इन पर राज्यों के हिसाब से 8 से 18 प्रतिशत की दर से कर लगता था.

दिलचस्प यह है कि सरकार ने मोबाइल फोन और कुछ निश्चित कलपुर्जो पर 10 प्रतिशत का मूल सीमा शुल्क लगाया है. इसके पीछे उद्देश्य घरेलू विनिर्माण को प्रोत्साहन देना है. हालांकि, इस बात की संभावना कम है कि घरेलू माइक्रोमैक्स और लावा जैसी कंपनियां जीएसटी की वजह से कीमतों में संशोधन करेंगी

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here