ब्लूव्हेल गेम चैलेंज के नाम से फेमस इंटरनेट गेम बच्चो की मौत का सिलसिला थम नहीं रहा है 27 अगस्त को ही उत्तर प्रदेश के हमीरपुर जिले का रहने वाला पार्थ सिंह जिसकी उम्र 13 साल की है उसने अपने आपको फांसी लगा ली पुलिस ने बताया  सिंह कुछ दिनों से ब्लू व्हेल गेम खेल रहा था

ब्लू व्हेल गेम का शिकार सबसे ज्यादा बच्चे या किशोर बन रहे है लगातार हादसे को देखकर सरकार ने इस गेम पर बैन लगा दिया और गूगल , फेसबुक , इंस्टाग्राम , सभी नेटवर्किंग साइट से ब्लू व्हेल गेम के लिंक्स हटाने के निर्देश दिए गए है

ब्लू व्हेल गेम बैन होने के बाद दूसरे से मौजूद 

इस गेम से जुडी नयी जानकारियां सामने आयी है ब्लू व्हेल गेम भारत में बैन होने के बाद भी यह गेम भारत में मौजूद है बैन से बचने के लिए ब्लू व्हेल गेम नाम बदलकर बच्चो को अपना शिकार बना रहा है रिपोर्ट के मुताबिक अब ये गेम A Silent House, A Sea of Whales, Wake Me Up at 2.40am जैसे नामो से सोशल मिडिया नेटवर्किंग से वायरल हो रहे है

खतरनाक चैलेंजो का है गेम

सभी स्कूलों में बच्चो के माता-पिता को इस गेम के प्रति सतर्क और बच्चे के व्यवहार पर नजर रखने को कहा गया है ये गेम भारत के पहले कई देशो में बच्चो को अपना निशाना बना चुका है जैसा की आप सभी को पता है इस गेम में बच्चो को खतरनाक टास्क दिया जाता है और इसमें कुल 50 टास्क होते है जैसे की रात को हॉरर मूवी देखने , सुबह 4 बजे उठना , किसी को मरना , अपने हाथ व्हेल बनाना आदि और सबसे आखिरी में उन्हें खुदखुशी के लिए उकसाया जाता है कई देशो में ये गेम पूरी तरह से बैन है भारत में 11 अगस्त को भारत के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी जी ने ब्लू व्हेल गेम को बैन कर दिया है

130 लोग कर चुके है खुदखुशी 

ब्लू व्हेल गेम से सिर्फ रूस में अब तक 130 लोग आत्महत्या कर चुके है भारत में पहला शिकार मुंबई में हुआ था और दूसरा शिकार उत्तर प्रदेश के  हमीरपुर जिले में हुआ इस गेम का ज्यादातर शिकार टीनएज होते है

ब्लू व्हेल गेम बनाने वाला हो चुका है गिरिफ्तार 

यह गेम रुसी नागरिक फिलिप बुडेकिन ने 2013 में बनाया था रूस में पहला सुसाइड 2015 में सामने आते ही फिलिप बुडेकिन को गिरिफ्तार कर लिया गया था उस पर केस चला सुनवाई के दौरान फिलिप बुडेकिन ने बताया की गेम का मकसद समाज की सफाई करना है जिन लोगो ने गेम खेलते हु आत्महत्या की है फिलिप बुडेकिन की नजर में वो सब बयोलॉजिकल वेस्ट थे

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here