सार्वजनिक एरिया की एनर्जी एफीशियंसी सर्विसेज लिमिटेड (EESL) ने यह जानकारी दी है कि वह टाटा मोटर्स से 10,000 इलेक्ट्रिक वाहनों को खरीदेगी. टाटा मोटर्स को यह ठेका प्रतिस्पर्धी बोली प्रक्रिया के बाद हासिल हुआ था. कंपनी इसके तहत इलेक्ट्रिक सेडान टिगोर को बनाएगी

टाटा मोटर्स गुजरात के साणंद प्लांट में इलेक्ट्रिक टिगोर का निर्माण करेगी ताकि EESL से मिले 1,120 करोड़ रुपये के आर्डर को पूरा किया जा सके. कंपनी के सूत्रों के मुताबिक टिगोर के इलेक्ट्रिक वर्जन का उत्पादन साणंद प्लांट में ही किया जाएगा

EESL के मुताबिक इलेक्ट्रिक वाहनों के प्रयोग से 2030 तक डीजल व पेट्रोल उपभोग में 156 मिलियन टन ऑयल के बराबर कमी आएगी व इससे राष्ट्र को 3.9 लाख करोड़ रुपये की शुद्ध बचत होगी. EESL ने एक बयान में बोला कि टाटा मोटर्स इलेक्ट्रिक वाहनों की आपूर्ति दो चरणों में करेगी.पहले चरण के तहत कंपनी नवंबर 2017 में 500 ई-कार की आपूर्ति करेगी. शेष 9,500 वाहनों की आपूर्ति दूसरे चरण में की जाएगी

ESSL ने बोला कि इलेक्ट्रिक वाहनों की खरीद के लिए टाटा मोटर्स का चयन अंतर्राष्ट्रीय प्रतिस्पर्धी बोली के जरिए किया गया है. कंपनी ने बोली में सबसे कम मूल्य 10.16 लाख रुपये (बिना जीएसटी) की बोली लगाई थी. यह वाहन GST के साथ 11.2 लाख रुपये में उपलब्ध होंगे व इसके साथ ही 5 वर्षकी वारंटी भी दी जाएगी. टाटा मोटर्स द्वारा उपलब्ध कराए जाने वाला वाहन मार्केट में वर्तमान में मौजूद समान वाहन की तुलना में 25 फीसद सस्ता है व इनके साथ 3 वर्ष की वारंटी आती है

इस टेंडर में महिंद्रा एंड महिंद्रा, निसान व टाटा मोटर्स ने भाग लिया था, जिसमें टाटा मोटर्स की बोलियां खोली गईं. ESSL ने दावा किया है कि यह संसार का सबसे बड़ा सिंगल इलेक्ट्रिक वाहन खरीद टेंडर है. इसके साथ ही 10 हजार इलेक्ट्रिक वाहन की खरीद के साथ ही एक सर्विस प्रदाता एजेंसी की भी पहचान की है

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here