Touchscreen smartphone with cloud of colorful application icons isolated on white background

चीन को लेकर भारतीय सीमा पर तनतनी तो बनी ही रहती है लेकिन अब चीन का खतरा भारतीय सीमा के अंदर तक पहुँच गया है भारतीय खुफिया एंजेसियों ने चीनी ऐप्लीकेशन्स को लेकर एक चेतावनी जारी की है जिसमें 42 ऐसी ऐप्स का जिक्र किया है जो बेहद ही सवेंदनशील है। एजेंसियों ने सुरक्षा बलों के जवानों और अधिकारियों को इन ऐप को जल्द से जल्द फोन से डिलीट करने का आदेश देते हुए इन्हें किसी भी भारतीय के फोन में इंस्टाल करने से मना किया है।

मिडिया रिपोर्ट्स में बताया गया है चीन द्वारा निर्मित 42 ऍप्लिकेशन्स जो इस समय भारत में जासूसी का काम कर रहे है यह जानकारी एक खुफिया दस्तावेज़ के लीक हो जाने पर सामनें आई है।

यह दस्तावेज भारत के सुरक्षा विभाग से जुड़ा हुआ है और इसमें ऐप्लीकेशन्स से संबधित बात की गई है। इस दस्तावेज में आर्मी तथा विशेषकर चीनी सीमा ड्यूटी कर रहे जवानों को सख्त निर्देश दिए गए हैं कि वह बिना देर किए अपने फोन से वह ऐप्लीकेशन्स डिलीट करें और अपने फोन को पूरी तरह से फार्मेट करें।

बताया गया है कि राष्ट्रीय सुरक्षा को ध्यान में रखते हुए एक एडवाइजरी जारी की गई है जिसमें इन एप्लीकेशंस को कभी भी इस्तेमाल में न लाए जाने के लिए कहा गया है।

रिपोर्ट के अनुसार ये ऐप्स भारतीयों की निजी जानकारी के साथ ही शहरों के नक्शे तथा लोकेशन्स को ट्रैक कर चीनी सर्वर को भेज रही है, और इससे चीन भारत के आंतरिक इलाकों पर नज़र रख जासूसी कर रहा है।

indian-troops-banned-apps

दस्तावेज में लिखी गई 42 मोबाइल ऐप्लीकेशन राष्ट्रीय सुरक्षा के लिए खतरा बताई गई हैं। इसमें लिखा गया है कि चीनी डेवलपर्स द्वारा बनाई गई कुछ ऐप्स के तार चीनी से जुड़े हैं और इनसे आर्मी जवानों की जासूसी किए जाने की आशंका है। आपको जानकार हैरानी होगी कि इस ​सूची में शेयरइट व ट्रू-कॉलर जैसी कई ऐप्लीकेशन्स हैं जिनका यूज़ भारत में बेहद ज्यादा किया जाता है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here