तकनीक के मामले में भारतीय किसी से कम नहीं है. यह बात तो पूरी दुनिया मानती है. विश्व की बड़ी-बड़ी कंपनियों पर भारतीय मूल के लोग बैठे हुए है. आपको बता दे की भारतीय का ये टैलेंट सिर्फ कंपनियों में नहीं बल्कि शहरो की गलियों में भी बसता है. रांची के रहने वाले एक शख्स ने ऐसा ही कारनामा कर दिखाया है जिसके बाद अमेरिका और चीन भी हैरान है। 38 साल के रंजीत ने देसी रोबोट बनाया है जिसे देखकर दुनिया भर के बड़े वैज्ञानिक भी चौंक गए हैं।

रंजीत ने ऍन्जा टैलेंट दिखाते हुए. एक देसी रोबोट बनाया है. आपको बता दे की रंजीत ने इस रोबोट का रश्मि रखा है. रश्मि विश्व प्रसिद्ध रोबोट ‘सोफिया’ का देसी संस्करण है। सोफिया के लिए आपको बता दें कि यह दुनिया की पहली ऐसी रोबोट है जिसे किसी आम आदमी की तरह देश की नागरिकता प्राप्त हुई है। सोफिया को सयुंक्त अरब अमीरात की सरकार द्वारा देश का नागरिक करार दे दिया गया है। रंजीत ने सोफिया से ही प्रेरित होकर रश्मि का निर्माण किया है।

Image result for रश्मि रोबोट

इस रोबोट की सबसे खास बात यह है कि यह रोबोट होकर भी हिंदी व अंग्रेजी के साथ-साथ भोजपुरी व मराठी में भी बात कर सकती है। 38 वर्षीय रांची के रहने वाले रंजीत ने लिंग्विस्टिक इंटरप्रीटेशन, आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस, फेशियल रिकग्निशन सिस्टम और विजुअल डाटा जैसे फीचर्स का मिश्रण कर रशिम का निर्माण किया है। रश्मि ऐसे सॉफ्टवेयर पर काम करता है जिसका निमार्ण स्वंय रंजीत ने ही किया है।

आपको बता दें कि रंजीत के पास एमबीए की डिग्री है और वह पिछले 15 साल से सॉफ्टवेयर डेवलपमेंट का काम कर रहे हैं। रंजीत ने 2 साल के समय में सिर्फ 50 हजार रुपये लागत से रशिम को तैयार किया है।

Image result for रश्मि रोबोट

इंसानों की तरह बोलने वाले इस रोबोट पर रंजीत अभी भी काम कर रहे हैं और इनका कहना है कि वह रश्मि को पूरी तरह से किसी इंसान की तरह हाई इंटेलिजेंस रोबोट बनाने में अभी कुछ समय और लगेगा। रंजीत की रश्मि को यूएई की सोफिया का देसी अवतार कहा जा रहा है। सोफिया का निर्माण हैन्सन रोबोटिक्स फर्म द्वारा किया गया है। यह रोबोट किसी खूबसूरत महिला जैसी दिखती है और सोफिया की इंटेलिजेंस, स्किल्स और सोशल प्रेजेंस के चलते इतना काबिल माना गया है कि उसे इंसानों की तरह वहां का नागरिक घोषित कर दिया गया है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here