टेक्नोलॉजी कंपनी सैमसंग हाल ही में एक टेक्नोलॉजी पेंटेंट दाखिल किया है इस टेक्नोलॉजी में पासवर्ड भूलने पर हथेली के स्कैन से डिवाइस अनलॉक किया जा सकेगा और भूला हुआ पासवर्ड पता चल जाएगा

कंपनी के इस 42 पेज के पेटेंट के हिसाब से डिवाइस के फ्रंट कैमरा के जरिए हथेली की तस्वीर क्लिक कर फोन उसे वैरिफाई कर सकेगा। इस तकनीक की मदद से फोन के मालिक की आईडेंटिटी वैरिफाई की जा सकेगी। इस तकनीक में हाथों की रेखाओं के जरिए यूजर की आईडी को पहचाना जा सकेगा

आपको बता दें कि इस समय स्मार्टफोन मार्केट में फेस रिकॉग्नाइजेशन सिस्टम और फिंगरप्रिंट फीचर वाले स्मार्टफोन आ रहे हैं। सैमसंग ने सभी स्मार्टफोन मेकर्स को पीछे छोड़ते हुए हथेली से फोन अनलॉक होने वाली तकनीक पर पेटेंट रजिस्टर्ड किया है। पाम स्कैन तकनीक में फोन में पहले से ही मौजूद हथेली की लाइन को मैच करके यूजर की पहचान की जाएगी।

सैमसंग की इस तकनीक में पासवर्ड भूलने पर यूजर को वह याद दिलाया जाएगा। हालांकि इसके लिए यूजर को पासवर्ड का हिंट मिलेगा पूरे पासवर्ड के बारे में नहीं पता चल सकेगा। वहीं किसी और के जरिए फोन को अनलॉक करने की कोशिश में फोन पर हिंट डिसप्ले नहीं होगा। रिपोर्ट में कहा गया कि सैमसंग कंपनी सोचती है कि इंसान की हथेली को पासवर्ड याद रखने के लिए इस्तेमाल किया जा सकता है।

एक अन्य रिपोर्ट के मुताबिक ये पाम स्कैनर टेक्नोलॉजी आइरिस स्कैनर या फिंगर प्रिंट स्कैनर से अलग होगी। सैमसंग इस तकनीक के जरिए ये भी पता चल सकेगा कि पासवर्ड हिंट के लिए रिक्वेस्ट कर रहा शख्स फोन का मालिक है या नहीं। पुष्टि नहीं होने पर फोन पर हिंट नजर नहीं आएगा और फोन पूरी तरह से सुरक्षित होगा।

आपको बता दें कि सैमसंग का ये कोई पहला सिक्योरिटी फीचर नहीं है। इसके पहले कंपनी आइरिस स्कैनर, फेशियल रिकॉग्नाइजेशन, फिंगर प्रिंट आइडेंटिफिकेशन, पैटर्न और पिन कोड जैसे फीचर्स भी ला चुकी है। पाम स्कैनिंग फीचर के अलावा सैमसंग इस समय 3डी फेस स्कैनिंग फीचर पर भी काम कर रही है। सैमसंग के इस फीचर के आने के बाद बाकी स्मार्टफोन मेकर्स को कड़ी टक्कर मिल सकती है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here