अगर आप टेक्नोलॉजी और गैजेट्स की खबरे पढ़ना पसंद करते है। तो आपने पड़ा होगा की इस कंपनी ने इतने मिनट में इतने यूनिट्स की सेल हो गयी या सभी यूनिट्स पहले ही सेल में आउट ऑफ़ स्टॉक हो गयी जैसी खबरे आपको बता दे की सभी स्मार्टफोन कम्पनियाँ अपने फोन की सभी यूनिट्स को एक ही दिन में आउट ऑफ़ स्टॉक होने का दावा करती है।

आपको बता दे की स्मार्टफोन कम्पनियो की कस्टमर्स को फ़साने की ट्रिक है। जिसमे आप जैसे कई सारे यूज़र्स फंस जाते है।

ये है यूज़र्स को फ़साने की ट्रिक 

ज्यादातर कंपनियां फोन के लॉन्च के साथ ही दावा करती हैं कि फोन की सभी यूनिट्स एक मिनट में सोल्ड आउट हो गईं या एक दिन में ही फोन आउट ऑफ स्टॉक हो गया, लेकिन जरूरी नहीं है, कि ऐसा हो ही। कई बार कंपनियां ऐसा ऐलान सिर्फ इसीलिए ही करती हैं, क्योंकि ग्राहक के मन में फोन की इतनी अच्छी इमेज बनाई जा सके। फोन के आउट ऑफ स्टॉक होने की खबर से ग्राहक सोचेगा कि फोन बहुत अच्छा था, इसीलिए इतनी जल्दी सभी यूनिट्स बिक गईं।

ये भी है वजह 

फोन की मिनटों में सभी यूनिट्स बिकने का एलान करने की दूसरी वजह साइकलोजिकल होती है। कंपनियां इस तरह की घोषणा के जरिए यूजर के मन में फोन को जल्द से जल्द बुक करने का दवाब बना देती हैं। यूजर को लगता है कि फोन की कम यूनिट सेल के लिए रखी गई हैं, जो जल्द ही सोल्ड आउट हो सकती हैं, पिछली बार की तरह, ऐसे में वह झट से अपनी यूनिट बुक कर देता है।

फ्लिपकार्ट ने भी अपनाई ये ट्रिक 

हाल ही में फ्लिपकार्ट कंपनी ने अपना खुद का मोबाइल बिलियन कैप्चर प्लस लॉन्च किया था। इस फोन के साथ भी ग्राहकों को फंसाने के लिए ये ट्रिक अपनाई गई। ये स्मार्टफोन पहली बार 15 नवंबर की रात बिक्री के लिए उपलब्ध हुआ है। जिसके बाद फ्लिपकार्ट ने पहले ही दिन के सेल में अपने स्मार्टफोन को आउट ऑफ स्टॉक होने का दावा किया था। कंपनी ने कहा था कि उन्हें ग्राहकों से बहुत बढ़िया रिस्पॉन्स मिला था। कंपनी के मुताबिक, बिलियन कैप्चर प्लस स्मार्टफोन्स 15 नवंबर को सेल के लिए उपलब्ध हुआ और ये पहले दिन के सेल में ही सोल्ड आउट हो गया। हालांकि रिपोर्ट के मुताबिक, फ्लिपकार्ट ने पहली सेल में 950 यूनिट्स बिक्री के लिए रखी थीं, जिसमें से मात्र 923 यूनिट्स ही पहले दिन बिके हैं। ऐसे में कंपनी की दावे पर यकीन नहीं किया जा सकता है।

मार्केटिंग स्ट्रेटर्जी का हिस्सा

आपको बता दें कि इस तरह का दावा करने वाली फ्लिपकार्ट अकेली कंपनी नहीं है, बल्कि कई दिग्गज कंपनियां भी ग्राहकों को आकर्षित करने के लिए इस तरह के दावे करती हैं। दरअसल ये मार्केटिंग स्ट्रेटर्जी का हिस्सा है, जिसमें अनजाने में ही खरीदने में दिलचस्पी न रखने वाले लोगों को भी फोन को खरीदने के लिए लुभाया जाता है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here